15.1 C
Delhi
Wednesday, November 30, 2022

श्वेता हमेशा कहती थी अपनी बेटी के लिए कुछ भी कर सकती हूं, आज अपनी बेटी को ही छोड़कर चली गई: दोस्त

नई दिल्ली। सोशल मीडिया के दौर में कब, कैसी खबर मिल जाए यह कोई नहीं जानता है। मंगलवार को पत्रकारिता जगत में ऐसी एक खबर आई जिसने सबको सख्ते में डाल दिया। नेशनल दस्तक की पूर्व रिपोर्टर और शोधार्थी श्वेता यादव ने ग्रेटर नोएडा में अपने अपार्टमेंट की 16वीं मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली। कल तक जो महिला सोशल मीडिया पर लगातार अपने हक, परिवार और बेटी से जुड़ी पोस्ट लिख रही थी अब वो हमारी बीच नहीं रही। इस खबर के साथ ही सोशल मीडिया पर लोग अपनी-अपनी प्रतिक्रिया देते हुए श्रद्धांजलि देने लगे। हर कोई सवाल पूछ रहा था कि आखिर एक जिंदादिल महिला के साथ ऐसा क्या हुआ कि उसने मौत को गले लगा लिया।

यह भी पढ़ें- उत्तर प्रदेशः महिला ने अपार्टमेंट की 16वीं मंजिल से कूदकर जान दी

श्वेता यादव की मौत पर लोगों ने अपने-अपने तरह से श्रद्धांजलि दी है। उनके दोस्त तो अभी भी इस बात को मानने को तैयार नहीं हैं कि श्वेता ऐसा कुछ कर सकती है। द मूकनायक ने स्वेता के करीबी दोस्तों से संपर्क करने की कोशिश की। वह भी अंदर से इतना टूट चुके हैं कि अभी बात करने स्थिति में नहीं हैं। लेकिन खबर में नाम नहीं लिखने की शर्त पर श्वेता की एक दोस्त ने हमसे बात की।

पिछले सप्ताह ही फोन पर बात हुई थी

उन्होंने बताया कि स्वेता बहुत ही जिंदादिल इंसान थी। “मेरी अभी पिछले सप्ताह ही उससे बात हुई थी। अक्सर मैं और श्वेता बातें किया करते थे। लेकिन उसकी बात से कभी नहीं लगा कि वह ऐसा कर सकती है। वह अपनी बेटी से बहुत प्यार करती थी उसे वह कभी नहीं छोड़ती थी। जब भी बात होती थी। हमेशा कहती थी मैं अपनी बेटी के लिए कुछ भी कर सकती हूं और आज बेटी को अकेले छोड़कर चली गई।”

पति से रिश्तों और सोशल मीडिया पर श्वेता के प्रोफाइल में लगी टैग लाइन के बारे में जब द मूकनायक ने पूछा तो उन्होंने बताया कि, सोशल मीडिया पर जो टैग लाइन दी है, “जिंदगी में सबकुछ माफ कर सकती हूं, लेकिन रिश्तों में झूठ नहीं।” इस बारे में श्वेता की दोस्त का कहना है कि टैग लाइन में जैसा लिखा है वैसा कुछ नहीं है। क्योंकि इतनी बात होती थी कि वह ऐसी बात होने पर बताती जरूर। बाकी अब जैसी खबरें आ रही हैं उससे तो मन में दुविधा ही पैदा हो रही है।

पति ने पहले पोस्ट लिखा फिर डिलीट कर दिया

एक लंबी सांस लेती हुए वह कहती हैं कि, “पति पत्नी में थोड़ी बहुत नोकझोंक हो सकती है। इसमें कोई बड़ी बात नहीं हैं। लेकिन श्वेता के पति ने कुछ दिन पहले ही एक पोस्ट किया था। जिसमें उसने लिखा कि ‘फैमिनिस्ट महिला से कभी शादी नहीं करनी चाहिए। मैं उसका उदाहरण हूं।’ लेकिन कुछ समय बाद उसे डिलीट कर दिया। इससे समझ में नहीं आ रहा कि ऐसी क्या कलह हो गई की उसने मौत को गले लगा लिया। जबकि श्वेता बहुत ही बहादुर लड़की थी, उसने अपने जिंदगी में इतनी परेशानी देखी थी। जिसके बाद वह यहां तक पहुंची थी। पता नहीं ऐसा क्या हुआ कि मौत को ही गले लगा लिया। अब तो सारी बात पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही पता चल पाएगी।”

पति के सोने के बाद की आत्महत्या

वहीं इस घटना के बारे में द मूकनायक ने बिसरख थाने के एसएचओ उमेश बहादुर सिंह से बात की तो उन्होंने बताया कि, “जांच चल रही है। पोस्टमार्टम की रिपोर्ट से ही सारी बात साफ हो पाएगी।” आत्महत्या वाली घटना के बारे में एसएचओ ने बताया कि पति पत्नी दोनों ही मिलकर शराब पी रहे थे। ऐसे में दोनों के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ। जिसके बाद पति कमरे में जाकर सो गया और श्वेता ने और शराब पी और गुस्से में आकर 16वीं मंजिल से छलांग लगा दी। उन्होंने बताया कि, सारी जानकारी अभी तक की इंवेस्टिगेंशन में पता चली है। दोनों के परिवार के लोग थाने में पहुंच हुए हैं। बाकी हत्या या आत्महत्या की बात तो पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही साफ हो पाएगी।

आपको बता दें कि, सोशल मीडिया के कई लोग श्वेता की आत्महत्या को हत्या से भी जोड़ रहे हैं। वही दूसरी ओर सूत्रों के अनुसार श्वेता की मां ने पुलिस को अपने बयान में कहा कि उसका दामाद हत्या नहीं कर सकता हैं। आवेश में आकर हो सकता है उनकी बेटी से ही गलती हो गई हो।

Poonam Masih
Poonam Masih, Journalist The Mooknayak

Related Articles

मध्य प्रदेशः 10 हजार स्वास्थ्य केंद्र बनेंगे मॉडल, सर्व सुविधायुक्त होंगे अस्पताल

प्रथम चरण में 23 जिलों में 500 हेल्थ एंड वेलनेस एवं 23 शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को आदर्श...

अब कीटनाशक भी ऑनलाइन शॉपिंग मार्किट में, पढ़िए कृषि विशेषज्ञ व किसानों ने क्या दी राय

जयपुर। अब किसान फ्लिपकार्ट (flipkart) व ऐमाजॉन (amazon) ई-कॉमर्स साइट्स से भी कीटनाशक खरीद सकेंगे। केंद्र सरकार ने ऐसे ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म्स...

दादी-पिता ने 6 माह की नवजात बच्ची को फेंका,पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार

लखनऊ। यूपी के पीलीभीत में गत 18 नवंबर को झाड़ियों में नवजात शिशु पड़ा हुआ मिला था। इस मामले में पुलिस ने...
- Advertisement -

Latest Articles

मध्य प्रदेशः 10 हजार स्वास्थ्य केंद्र बनेंगे मॉडल, सर्व सुविधायुक्त होंगे अस्पताल

प्रथम चरण में 23 जिलों में 500 हेल्थ एंड वेलनेस एवं 23 शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को आदर्श...

अब कीटनाशक भी ऑनलाइन शॉपिंग मार्किट में, पढ़िए कृषि विशेषज्ञ व किसानों ने क्या दी राय

जयपुर। अब किसान फ्लिपकार्ट (flipkart) व ऐमाजॉन (amazon) ई-कॉमर्स साइट्स से भी कीटनाशक खरीद सकेंगे। केंद्र सरकार ने ऐसे ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म्स...

दादी-पिता ने 6 माह की नवजात बच्ची को फेंका,पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार

लखनऊ। यूपी के पीलीभीत में गत 18 नवंबर को झाड़ियों में नवजात शिशु पड़ा हुआ मिला था। इस मामले में पुलिस ने...

मध्य प्रदेश: वन संरक्षण के लिए आदिवासी युवाओं को रोजगार से जोड़ रहा वन विभाग

वन उपज को एकत्र कर जीवनयापन करने वाले आदिवासी युवकों के लिए विभाग ने शुरू किया कौशल विकास कार्यक्रम।

खबर का असरः सरकारी स्कूलों में बच्चों को मिलने लगा दूध

जयपुर। राजस्थान के सरकारी विद्यालयों व मदरसों में अध्ययनरत कक्षा 1 से 8वीं तक के बच्चों को अब प्रत्येक मंगलवार व शुक्रवार...