24.2 C
Delhi
Friday, October 7, 2022

बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे: कई जगह धंसी सड़क, मिट्टी का कटान, मरम्मत का कार्य शुरू

15 हजार करोड़ के एक्सप्रेस-वे का पीएम मोदी ने 16 जुलाई को किया था लोकार्पण।

पहली बारिश के बाद एक्सप्रेस-वे कई जगह हुआ क्षतिग्रस्त, इटावा में सड़क दरकने की तस्वीर आई सामने।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की जनता को हफ्ता भर पहले ही पीएम नरेन्द्र मोदी ने नए एक्सप्रेस-वे की सौगात दी थी, लेकिन बारिश ने बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे (Bundelkhand Expressway) के निर्माण की गुणवत्ता की पोल खोल दी। जालौन में सड़क धंस गई तो इटावा में सड़क में दरार पड़ गईं। कई जगहों पर मिट्टी का कटाव हुआ है। हालांकि, वीडियो वायरल होने के बाद कार्यदाई संस्था ने इसकी मरम्मत का काम शुरू कर दिया है। उल्लेखनीय है कि बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे इटावा से चित्रकूट तक 294 किलोमीटर लम्बा बना है। इसे बनाने में लगभग 15 हजार करोड़ की लागत आई है। इसका उद्घाटन 16 जुलाई 2022 को प्रधानमंत्री ने किया था।

बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का शुभारंभ करते पीएम नरेंद्र मोदी और वहां मौजूद सीएम योगी आदित्यनाथ व अन्य [ फोटो साभार- Twitter]

जानिए पूरा मामला

दरअसल, 20 जुलाई 2022 की देर रात हुई तेज बारिश से बुंदेलखंड एक्सप्रेस के किनारों पर मिट्टी का कटान हो गया था। इस वजह से जालौन जिले के छिरिया सलेमपुर के पास सड़क क्षतिग्रस्त हो गई थी, जिसमें गड्ढे हो गए थे। वहां से निकल रहे राहगीरों ने उसका वीडियो बनाकर वायरल कर दिया था। स्थानीय मीडिया में भी खबरें प्रकाशित हुई थीं। इसके बाद विपक्षी नेताओं ने भी सवाल करने शुरू कर दिए। वीडियो वायरल होने पर प्रशासन और सत्ता पक्ष के नेताओं की जमकर किरकिरी हुई। जिसके बाद कार्यदायी संस्था ने एक्सप्रेस-वे का मरम्मत का कार्य शुरू किया है।

छतिग्रस्त बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे [ फोटो साभार- Twitter]

उठने लगे सवाल

बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे पहली बरसात नहीं झेल पाया। इसको लेकर एक्सप्रेस-वे निर्माण पर सवाल उठने लगे हैं। स्थानीय मीडिया में छपी रिपोर्ट के अनुसार एक्सप्रेस-वे के 286.6 किलोमीटर पर एक पुलिया बनाई गई है, जिसके दोनों तरफ बड़ी मात्रा में मिट्टी का कटान हो गया है। हालांकि इस मिट्टी के कटान की गंभीरता को देखते हुए एक्सप्रेस-वे बनाने वाली कंपनी ने वहां पर कंक्रीट और मिट्टी का मिश्रण डाल दिया है।

कंक्रीट और मिट्टी के मिश्रण से पुलिया की एक दीवार को ढक दिया गया है। इस प्रकार से छोटे-छोटे कटान जगह-जगह पर कई स्थानों पर देखे जा सकते हैं। बरसात होने के कारण से काम की गति थोड़ी धीमी हो गई है। वहीं दूसरी ओर 292 किलोमीटर के दूसरी तरफ की एक सड़क बंद दिखाई दी।

छतिग्रस्त बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के मरम्मत कार्य के दौरान लगाया गया बैरियर [ फोटो साभार- Twitter]

उसके दोनों तरफ से रास्ता का डायवर्जन लगा कर उसको बंद रखा गया है, लेकिन सड़क के किनारे पर मिट्टी के कटान के बाद सड़क पर दरारें भी दिखाई दी। साथ ही साथ वहां पर किनारे से बनाया गया बाउंड्री लाइन के लिए सीमेंट का डिवाइडर भी चटका हुआ और टूटा हुआ दिखाई दिया।

मूसलाधार बारिश में ही सड़क की कई कमियां एक साथ दिखाई देने लगी है। निर्माण कार्य में लगे स्थानीय मजदूरों के अनुसार, अभी काम पूरा होने में समय लगेगा क्योंकि एंट्री प्वाइंट पर चढ़ने और उतरने वाली सड़कों पर टोल प्लाजा अधूरे हैं। सड़क के दोनों तरफ अभी भी बाउंड्री वॉल अधूरी है। मामले को लेकर द मूकनायक ने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण व कार्यदायी संस्था के अधिकारियों से दूरभाष पर सम्पर्क करने की कोशिश की, लेकिन अधिकारियों ने मामले में प्रतिक्रिया देने से मना कर दिया।

Satya Prakash Bharti
Satya Prakash Bharti, Journalist The Mooknayak

Related Articles

हरियाणा: फरीदाबाद स्थित निजी हॉस्पिटल के वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट में उतरे 4 दलित सफाईकर्मियों की जहरीली गैस से मौत

सेक्टर-16 स्थित क्यूआरजी हॉस्पिटल में हुआ यह दर्दनाक हादसा। नई दिल्ली। हरियाणा के फरीदाबाद के सेक्टर-16 स्थित क्यूआरजी...

खबर का असरः पत्नी की गोली मारकर हत्या का आरोपी युवक गिरफ्तार

बेटी के हत्यारे की दो महीने बाद गिरफ्तारी होने पर छलक पड़े पिता के आंसू, जाग उठी न्याय...

राजस्थान: जंगल व वन्यजीव बचेंगे तभी पर्यावरण का संरक्षण होगा

वन्यजीव सप्ताह के तहत पर्यावरण संरक्षण की अलख भावी पीढ़ी में जगाने के लिए सरकारी स्कूलों में विविध कार्यक्रम आयोजित
- Advertisement -

Latest Articles

हरियाणा: फरीदाबाद स्थित निजी हॉस्पिटल के वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट में उतरे 4 दलित सफाईकर्मियों की जहरीली गैस से मौत

सेक्टर-16 स्थित क्यूआरजी हॉस्पिटल में हुआ यह दर्दनाक हादसा। नई दिल्ली। हरियाणा के फरीदाबाद के सेक्टर-16 स्थित क्यूआरजी...

खबर का असरः पत्नी की गोली मारकर हत्या का आरोपी युवक गिरफ्तार

बेटी के हत्यारे की दो महीने बाद गिरफ्तारी होने पर छलक पड़े पिता के आंसू, जाग उठी न्याय...

राजस्थान: जंगल व वन्यजीव बचेंगे तभी पर्यावरण का संरक्षण होगा

वन्यजीव सप्ताह के तहत पर्यावरण संरक्षण की अलख भावी पीढ़ी में जगाने के लिए सरकारी स्कूलों में विविध कार्यक्रम आयोजित

दिल्ली: अशोक विजयदशमी के दिन 10 हजार लोगों ने ली बौद्ध दीक्षा, देश में लगभग 1 लाख लोगों ने बौद्ध धम्म किया ग्रहण

नई दिल्ली। डॉ. भीमराव आंबेडकर ने आखिरी दिनों में सभी धर्मों पर गहरा अध्ययन करने के बाद देश में फैली जाति व्यवस्था...

गुजरात मॉडल: 811 करोड़ की योजनाओं के बाद भी, पिछले 30 दिनों में लगभग 24000 बच्चे कुपोषित मिले!

गुजरात। राज्य सरकार द्वारा पोषण को नियंत्रित करने के लिए 811 करोड़ रुपये की योजनाओं की घोषणा के बाद भी गुजरात राज्य...