26.1 C
Delhi
Monday, August 8, 2022

यूपी: जानलेवा हमले में घायल दलित की इलाज के दौरान मौत, पुलिस पर दाह-संस्कार के लिए जबरदस्ती करने का आरोप

इलाज के दौरान मौत के बाद घण्टों तक शव रखकर परिजनों ने किया प्रदर्शन। पुलिस जबरन शव उठाकर करने जा रही थी दाह-संस्कार, वीडियो हुआ वायरल। पैसे लेकर आरोपियों को छोड़ने की फिराक में है पुलिस, आरोप।

बाराबंकी। नगर पंचायत बेलहरा के नेतपुरवा वार्ड में रास्ते के विवाद को लेकर 16 जून को दलित युवक पर क्षेत्र के ही सजातीय लोगों ने जानलेवा हमला किया। पीड़ित को लाठी-डंडों से खूब पीटा गया जिसके बाद गम्भीर हालत में उसे अस्पताल में परिजनों ने भर्ती कराया। मारपीट में घायल युवक की दस दिन बाद 27 जून उपचार के दौरान मौत हो गई। शव लेकर घर पहुंचे परिवारीजनों ने शव को सड़क पर रखकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। इस दौरान परिजन न्याय और मुआवजे की मांग करने लगे। मामला गम्भीर होता देखकर क्षेत्रीय पुलिस ने शव उठा लिया और दाह संस्कार के लिए जाने लगी, इसका एक वीडियो भी सोशल मीडिया वायरल हो रहा है।

पुलिस की निगरानी में शव का अंतिम संस्कार
पुलिस की निगरानी में शव का अंतिम संस्कार

सूचना पाकर मौके पर पहुंचे तहसीलदार के आश्वासन के बाद पीड़ित परिजन व क्षेत्रवासी शांत हुए। पुलिस की निगरानी में शव का अंतिम संस्कार किया गया। परिजनों का आरोप है कि, पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया था। जिसमे तीन लोगों को जेल भेजा था, जबकि दो अन्य को पुलिस थाने पर बैठाई हुई है। आरोप है कि, पुलिस आरोपियों को पैसा लेकर छोड़ने की फिराक में है।

परिजनों का यह भी कहना है कि, पुलिस ने मामूली मारपीट में मुकदमा लिखा है। इस मामले में पुलिस अधीक्षक कार्यालय से बताया गया कि शुरुआती दौर में FIR मारपीट के आधार पर दर्ज की गई थी। अगले दिन मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर धारा 308 बढाई गई। युवक की मौत हो जाने के पश्चात धारा 34,452 एवं 308 को 304 में तब्दील किया गया है। थाने पर बैठाए गए युवकों को पूछताछ के लिए रोके जाने की बात कही गई है।

क्या है पूरा मामला?

यूपी के बाराबंकी के मोहम्मदपुर खाला क्षेत्र के नगर पंचायत बेलहरा के नेतपुरवा वार्ड में बीते 16 जून को रास्ते के विवाद को लेकर उमराव व दिलीप में मारपीट हो गई थी। इसमें दिलीप (35) गंभीर रूप से घायल हो गया था। उसका उपचार लखनऊ के निजी चिकित्सालय में चल रहा था। सोमवार सुबह दिलीप की मौत हो गई। 

मामूली धाराओं में मुकदमा किया दर्ज

परिजनों का आरोप है कि, पुलिस की ओर से शुरुआत से मामले में लापरवाह बनी रही। “पुलिस ने दिलीप पर हुए जानलेवा हमले में मामूली मारपीट की धारा में मुकदमा दर्ज किया था।”

शव रखकर किया प्रदर्शन

दिलीप के पोस्टमार्टम के बाद उसका शव उसके घर पहुंचा। आरोप है कि, मोहम्मदपुर खाला पुलिस ने शव का अंतिम संस्कार करने के लिए दबाव बनाया। इस पर परिजन व स्थानीय क्षेत्रवासी उग्र हो गए। आक्रोशित लोगों ने शव को मोहल्ले के मुख्य रास्ते पर रखकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। हंगामे को देखते हुए फतेहपुर व मोहम्मदपुर खाला थाने से भारी पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। परिवारीजनों की मांग थी कि आरोपी उमराव, राहुल, रोहित, मोहित व पुतान के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाय। पुलिस द्वारा वार्ता असफल रही तो तहसीलदार राहुल सिंह व रामनगर सीओ दिनेश कुमार दुबे ने परिजनों से बातचीत की।

तहसीलदार के लिखित आश्वासन पर माने परिजन

तहसीलदार के लिखित आश्वासन पर परिजन व मोहल्लेवासी शांत हुए, और शव का अंतिम संस्कार कर दिया। तीन बजे से शुरू हुआ प्रदर्शन शाम साढ़े पांच बजे तक चला। इस संबंध में तहसीलदार ने बताया कि, पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। परिवारीजनों को जो भी आर्थिक सहायता मिल सकती है, दिलाई जाएगी।

परिवार का अकेला सहारा था दिलीप

मृतक दिलीप मजदूरी कर अपने परिवार का पालन पोषण करता था। दिलीप की पत्नी रेनू देवी, बेटा दिव्यांशु (7), हर्षित (5) व सात माह की एक पुत्री परी है। दिलीप की मौत होने के बाद परिवार पर संकट का पहाड़ टूट पड़ा है। उनकी पत्नी सदमे से बार-बार बेहोश हो रही हैं।

Satya Prakash Bharti
Satya Prakash Bharti, Journalist The Mooknayak

Related Articles

मध्यप्रदेशः पंच-सरपंच महिलाओं के अधिकार पर पति-रिश्तेदारों का ‘डाका’, कैसे सशक्त होंगी महिलाएं!

सरपंच निर्वाचित महिला के पति ने ली शपथ, दलित सरपंच ने सामान्य वर्ग के युवक को बनाया सरपंच प्रतिनिधि.

राजस्थान: 30 घंटे पेड़ से लटका रहा दलित संत का शव, भाजपा विधायक सहित 3 पर केस दर्ज

साधु ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में भाजपा विधायक पर लगाए गंभीर आरोप जालोर। राजस्थान के जालौर जिले में...

राजस्थानः अल्प मानदेय में मदरसों के पैरा टीचर्स कर रहे काम, कैसे हो परिवार का पालन-पोषण!

रिपोर्ट- अब्दुल माहिर बोर्ड से पंजीकृत मदरसों के पैरा टीचर्स बेहाल, शिक्षक कर रहे आर्थिक तंगी का सामना।
- Advertisement -

Latest Articles

मध्यप्रदेशः पंच-सरपंच महिलाओं के अधिकार पर पति-रिश्तेदारों का ‘डाका’, कैसे सशक्त होंगी महिलाएं!

सरपंच निर्वाचित महिला के पति ने ली शपथ, दलित सरपंच ने सामान्य वर्ग के युवक को बनाया सरपंच प्रतिनिधि.

राजस्थान: 30 घंटे पेड़ से लटका रहा दलित संत का शव, भाजपा विधायक सहित 3 पर केस दर्ज

साधु ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में भाजपा विधायक पर लगाए गंभीर आरोप जालोर। राजस्थान के जालौर जिले में...

राजस्थानः अल्प मानदेय में मदरसों के पैरा टीचर्स कर रहे काम, कैसे हो परिवार का पालन-पोषण!

रिपोर्ट- अब्दुल माहिर बोर्ड से पंजीकृत मदरसों के पैरा टीचर्स बेहाल, शिक्षक कर रहे आर्थिक तंगी का सामना।

मध्यप्रदेशः सागर की ‘बसंती’ पर मानव तस्करी का आरोप, नाबालिग से करवाती थी अवैध धंधा!

भोपाल। मध्य प्रदेश के सागर जिले में महिला द्वारा मानव तस्करी का सनसनीखेज मामला सामने आया है। पुलिस ने दो गुमशुदा बच्चियां...

उत्तर प्रदेशः दरोगा ने दो दलित भाइयों को चौकी में बंद कर रात भर पीटा, जुर्म कबूल करने का बनाया दबाव!

मंझनपुर क्षेत्र से नाबालिग लड़की गायब हुई थी, पुलिस ने पूछताछ के लिए थाने बुलाया था। लखनऊ। यूपी...