23.1 C
Delhi
Friday, October 7, 2022

लखीमपुर खीरी में दो दलित बहनों की रेप व हत्या की घटना शर्मनाक, देश का मस्तक झुका: राजेन्द्रपाल गौतम

दिल्ली सरकार के सामाजिक कल्याण मंत्री राजेन्द्रपाल गौतम और द मूकनायक की एडिटर-इन-चीफ मीना कोटवाल के बीच देश में हो रहे दलित अत्याचारों पर खास बातचीत

नई दिल्ली। “लखीमपुर खीरी में दो दलित बहनों की रेप व हत्या की घटना शर्मसार करने वाली है, ऐसी घटना से पूरे देश का मस्तक छुक जाता है।” यह विचार दिल्ली सरकार के सामाजिक कल्याण मंत्री राजेन्द्रपाल गौतम ने द मूकनायक की एडिटर-इन-चीफ मीना कोटवाल से खास बातचीत में व्यक्त किए। सामाजिक कल्याण मंत्री ने हाल में दिल्ली में अपने कार्यालय के उद्घाटन के अवसर पर विभिन्न समसामयिक मुद्दों पर साक्षात्कार के दौरान विचार साझा किए।

उन्होंने कहा, “कुछ लोग कैसे उदाहरण सेट कर रहे हैं। दोषियों ने हत्याएं की, रेप किया। फिर उनको छोड़ दिया गया। उनको माला पहनाकर, मिठाई खिलाना। आखिर हम संदेश क्या देना चाहते हैं! भारत हत्या व रेप करने वालों का देश है! दोषियों का ऐसे स्वागत कर रहे है जैसे जंग जीत कर आए हो। ये सोच गलत है। ये सोच ऐसे कामों को करने वाले लोगों का मनोबल बढ़ाती है। मैं तो सभी सरकारों से अपील करूंगा। ऐसी सोच को बढ़ने मत दो, कुचल दो।”

भारत को गौरवशाली राष्ट्र बनाएंगे

“भारत के महापुरुष हैं जो भारत को एक गौरवशाली राष्ट्र बनाने का सपना देखते थे जो भारत से नफरत का वातावरण खत्म करना चाहते थे। उनकी प्रतिमा हमने अपने कार्यालय में लगवाई है ताकि उनसे प्रेरणा लेते रहे।” उन्होंने आगे कहा, “भाईचारा बढ़े, छुआछूत मुक्त भारत बने और जो बुद्ध के समय पूरी दुनिया में शांति व मानवता का संदेश गया है। उस व्यवस्था पर एक बार फिर से काम करने की जरूरत है। इससे ही भारत गौरवशाली राष्ट्र बनेगा।”

विषमता बढ़ रही है

एक सवाल के जवाब में सामाजिक कल्याण मंत्री ने कहा, “आज जो हालात हैं…. देश के अंदर नफरत का वातावरण है, विषमता बढ़ रही है। सरकारी संस्थान बिक रहे हैं। जाति पूछ कर हत्या हो रही है, धर्म पूछकर हत्या हो रही है, मूंछ रखने पर हत्या हो रही है, कहीं मटकी छूने पर हत्या हो रही है। घोड़ी चढ़ने पर अत्याचार किए जा रहे हैं। ये घटनाएं देश को कमजोर कर रही हैं।”

स्वतंत्रता, समता, बंधुत्व रहे

गौतम ने आगे कहा, “भारत को एक ऐसा देश बनाना है जहां स्वतंत्रता, समता, बंधुता और न्याय हो। जहां सबको साथ लेकर आगे बढ़ने की भावना हो। जहां सबके लिए गुणवत्तापरक शिक्षा हो, जहां सबको बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मिले। जहां किसी के साथ अन्याय नहीं हो।” उन्होंने कहा कि, मैं विषमता का समर्थन नहीं करता। समता का समर्थन करता हूं। भारत के संविधान में बाबा साहब की सोच दिखती है।

“पूरे देश में लोगों को बुद्ध धर्म की शिक्षा और दीक्षा दी जाएगी। इसके लिए एक रथ निकाला गया है। जहां-जहां यह रथ जाएगा वहां-वहां हमारे मिशन से जुड़े लोग स्थानीय लोगों को बौद्ध धर्म के बारे में बताएंगे। रथ को लेकर लोगों में खासा उत्साह है,” राजेंद्र पाल गौतम ने कहा।

साक्षात्कार की पूरी वीडिओ यहां देखें-

The Mooknayakhttps://themooknayak.in
The Mooknayak is dedicated to Marginalised and unprivileged people of India. It works on the principle of Dr. Ambedkar and Constitution.

Related Articles

हरियाणा: फरीदाबाद स्थित निजी हॉस्पिटल के वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट में उतरे 4 दलित सफाईकर्मियों की जहरीली गैस से मौत

सेक्टर-16 स्थित क्यूआरजी हॉस्पिटल में हुआ यह दर्दनाक हादसा। नई दिल्ली। हरियाणा के फरीदाबाद के सेक्टर-16 स्थित क्यूआरजी...

खबर का असरः पत्नी की गोली मारकर हत्या का आरोपी युवक गिरफ्तार

बेटी के हत्यारे की दो महीने बाद गिरफ्तारी होने पर छलक पड़े पिता के आंसू, जाग उठी न्याय...

राजस्थान: जंगल व वन्यजीव बचेंगे तभी पर्यावरण का संरक्षण होगा

वन्यजीव सप्ताह के तहत पर्यावरण संरक्षण की अलख भावी पीढ़ी में जगाने के लिए सरकारी स्कूलों में विविध कार्यक्रम आयोजित
- Advertisement -

Latest Articles

हरियाणा: फरीदाबाद स्थित निजी हॉस्पिटल के वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट में उतरे 4 दलित सफाईकर्मियों की जहरीली गैस से मौत

सेक्टर-16 स्थित क्यूआरजी हॉस्पिटल में हुआ यह दर्दनाक हादसा। नई दिल्ली। हरियाणा के फरीदाबाद के सेक्टर-16 स्थित क्यूआरजी...

खबर का असरः पत्नी की गोली मारकर हत्या का आरोपी युवक गिरफ्तार

बेटी के हत्यारे की दो महीने बाद गिरफ्तारी होने पर छलक पड़े पिता के आंसू, जाग उठी न्याय...

राजस्थान: जंगल व वन्यजीव बचेंगे तभी पर्यावरण का संरक्षण होगा

वन्यजीव सप्ताह के तहत पर्यावरण संरक्षण की अलख भावी पीढ़ी में जगाने के लिए सरकारी स्कूलों में विविध कार्यक्रम आयोजित

दिल्ली: अशोक विजयदशमी के दिन 10 हजार लोगों ने ली बौद्ध दीक्षा, देश में लगभग 1 लाख लोगों ने बौद्ध धम्म किया ग्रहण

नई दिल्ली। डॉ. भीमराव आंबेडकर ने आखिरी दिनों में सभी धर्मों पर गहरा अध्ययन करने के बाद देश में फैली जाति व्यवस्था...

गुजरात मॉडल: 811 करोड़ की योजनाओं के बाद भी, पिछले 30 दिनों में लगभग 24000 बच्चे कुपोषित मिले!

गुजरात। राज्य सरकार द्वारा पोषण को नियंत्रित करने के लिए 811 करोड़ रुपये की योजनाओं की घोषणा के बाद भी गुजरात राज्य...