14.1 C
Delhi
Wednesday, November 30, 2022

लखीमपुर खीरी कांड: पुलिस ने 6 आरोपियों के खिलाफ दाखिल की चार्जशीट, पीड़ित परिवार कर रहा सीबीआई जांच की मांग

उत्तर प्रदेश। यूपी में लखीमपुर खीरी के निघासन क्षेत्र में 14 सितम्बर 2022 को दो दलित किशोरियों की रेप कर हत्या के बाद शव पेड़ पर टांग दिए गये थे। पुलिस ने इस मामले में मात्र 12 घण्टे में घटना का खुलासा करने का दावा करते हुए 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया था। इस मामले में एसपी ने एसआईटी गठित कर जांच सीओ निघासन एसएन तिवारी को सौंपी थी। सीओ एसएन तिवारी ने पूरे मामले में 14 दिन के अंदर न्यायालय में 6 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी है। वहीं इस पूरे मामले में आरोपियों का परिवार सीबीआई जांच की मांग कर रहा है।

यह भी पढ़ें- लखीमपुर दलित बहन रेप-हत्या मामला: “दिल्ली जा रहे नाबालिग बेटे को रास्ते से वापस बुलवाकर पुलिस ने किया एनकाउंटर” आरोपी जुनैद के पिता का दावा, दिखाए कागज

जानिए क्या है पूरा मामला?

यूपी में लखीमपुर खीरी के निघासन क्षेत्र के एक गांव में 14 सितम्बर 2022 को दोपहर दो दलित किशोरियों का कथित रूप से अपरहण हुआ। किशोरियों की मां के मुताबिक आरोपी दोनों किशोरियों को बाइक पर बैठाकर फरार हो गए थे। इस घटना के एक घण्टे बाद घर से 1 किमी दूर गन्ने के खेतों के किनारे लगे पेड़ पर किशोरियों का शव लटका मिला हुआ था। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में किशोरियों के साथ रेप की बाद गला कसकर हत्या किए जाने की पुष्टि हुई थी। पुलिस ने जांच शुरू की। पुलिस ने दावा किया था कि पास के गांव के ही रहने वाले सुहैल और जुनैद मई 2022 से उन किशोरियों के साथ सम्पर्क में थे। युवकों के सीडीआर सहित अन्य साक्ष्यों के आधार पर पुलिस ने गांव के ही रहने वाले छोटू सहित अन्य पांच युवकों को हिरासत में लेकर घटना का खुलासा किया था। पुलिस का दावा था कि सुहैल और जुनैद उन दोनों किशोरियों को बहला फुसलाकर खेत ले गए और घटना को अंजाम दिया। पुलिस ने आरोपियों के ख़िलाफ़ पास्को सहित अन्य गम्भीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया था।

यह भी पढ़ें- ग्राउंड रिपोर्ट: पुलिस ने जल्दबाजी में छोड़ दिए अहम सबूत, मृत बच्चियों की चप्पल छोड़ी, सैंपल एकत्र करना भूली

मुख्यमंत्री ने फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाने का दिया आदेश

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने घटना का संज्ञान लेकर पूरे मामले को फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने के आदेश दिए थे। सीएम के आदेश के बाद जांच में पुलिस ने तेजी दिखाई। एसपी लखीमपुर खीरी ने इस पूरे मामले में सीओ निघासन एस एन तिवारी के नेतृत्व में एसआईटी गठित की। एसआईटी ने पूरे मामले में पूरी घटना का दोबारा से नाट्य रूपांतरण किया। इसमें आरोपियों को भी घटना स्थल पर ले जाया गया था।

यह भी पढ़ें- दो दलित बहनों को घर के बाहर से अगवा कर ले गए बाइक सवार, पेड़ पर लटकी मिली दोनों की लाशें, छह आरोपी गिरफ्तार

पुलिस ने 14 दिन में दाखिल की चार्जशीट

इस पूरे एसआईटी चीफ एसएन तिवारी ने जांच करते हुए मात्र 14 दिन में लगभग 300 पन्ने की चार्जशीट न्यायालय में दाखिल कर दी है। अब पूरा मामला कोर्ट में है। 

Satya Prakash Bharti
Satya Prakash Bharti, Journalist The Mooknayak

Related Articles

मध्य प्रदेशः 10 हजार स्वास्थ्य केंद्र बनेंगे मॉडल, सर्व सुविधायुक्त होंगे अस्पताल

प्रथम चरण में 23 जिलों में 500 हेल्थ एंड वेलनेस एवं 23 शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को आदर्श...

अब कीटनाशक भी ऑनलाइन शॉपिंग मार्किट में, पढ़िए कृषि विशेषज्ञ व किसानों ने क्या दी राय

जयपुर। अब किसान फ्लिपकार्ट (flipkart) व ऐमाजॉन (amazon) ई-कॉमर्स साइट्स से भी कीटनाशक खरीद सकेंगे। केंद्र सरकार ने ऐसे ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म्स...

दादी-पिता ने 6 माह की नवजात बच्ची को फेंका,पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार

लखनऊ। यूपी के पीलीभीत में गत 18 नवंबर को झाड़ियों में नवजात शिशु पड़ा हुआ मिला था। इस मामले में पुलिस ने...
- Advertisement -

Latest Articles

मध्य प्रदेशः 10 हजार स्वास्थ्य केंद्र बनेंगे मॉडल, सर्व सुविधायुक्त होंगे अस्पताल

प्रथम चरण में 23 जिलों में 500 हेल्थ एंड वेलनेस एवं 23 शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को आदर्श...

अब कीटनाशक भी ऑनलाइन शॉपिंग मार्किट में, पढ़िए कृषि विशेषज्ञ व किसानों ने क्या दी राय

जयपुर। अब किसान फ्लिपकार्ट (flipkart) व ऐमाजॉन (amazon) ई-कॉमर्स साइट्स से भी कीटनाशक खरीद सकेंगे। केंद्र सरकार ने ऐसे ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म्स...

दादी-पिता ने 6 माह की नवजात बच्ची को फेंका,पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार

लखनऊ। यूपी के पीलीभीत में गत 18 नवंबर को झाड़ियों में नवजात शिशु पड़ा हुआ मिला था। इस मामले में पुलिस ने...

मध्य प्रदेश: वन संरक्षण के लिए आदिवासी युवाओं को रोजगार से जोड़ रहा वन विभाग

वन उपज को एकत्र कर जीवनयापन करने वाले आदिवासी युवकों के लिए विभाग ने शुरू किया कौशल विकास कार्यक्रम।

खबर का असरः सरकारी स्कूलों में बच्चों को मिलने लगा दूध

जयपुर। राजस्थान के सरकारी विद्यालयों व मदरसों में अध्ययनरत कक्षा 1 से 8वीं तक के बच्चों को अब प्रत्येक मंगलवार व शुक्रवार...