15.1 C
Delhi
Wednesday, November 30, 2022

ऑनर किलिंगः बेटी को गोली मारी, शव ट्रॉली बैग में भरकर फेंका!

लखनऊ। यूपी के मथुरा में यमुना एक्सप्रेस-वे की सर्विस रोड पर गत दिनों लाल रंग के ट्रॉली बैग में एक लड़की का शव मिला था। शव की शिनाख्त नई दिल्ली की आयुषी यादव (21) के रूप में हुई है। रविवार को मृतका की मां और भाई ने शव की पहचान की। पुलिस के मुताबिक आयुषी का मर्डर ऑनर किलिंग का मामला है। पिता ने ही बेटी को गोली मारी थी और फिर शव को सूटकेस में रखकर फेंक आया था। पुलिस ने आरोपी पिता को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।

जानिए क्या है पूरा मामला

यूपी के मेरठ में 17 नवम्बर 2022 को यमुना एक्सप्रेस-वे की सर्विस रोड पर लाल रंग का ट्रॉली बैग मिला था। ट्रॉली बैग में एक लड़की का खून से लथपथ शव मिला था। युवती के सिर, हाथ और पैरों में चोट के निशान थे और छाती में गोली मारी गई थी। इस घटना के बाद इलाके में हड़कम्प मच गया था।

युवती की पहचान नहीं हो सकी थी। पुलिस ने युवती के फोटो जारी किए। पुलिस की लगातार जारी छानबीन में लावारिस शव की पहचान आयुषी यादव (21) के रूप में हुई। आयुषी दिल्ली के बदरपुर के मोड़बन्द गांव में गली नंबर-65 में अपने माता-पिता और भाई के साथ रहती थी। आयुषी का परिवार मूल रूप से यूपी के गोरखपुर का रहने वाला है। शिनाख्त होते ही पुलिस की टीम युवती के घर पहुंच गई। घर पर उसकी मां और भाई मिले थे। जबकि पिता गायब था। जानकारी के मुताबिक पुलिस ने जब फोटो दिखाई तब माँ ने फोटो देखकर युवती को पहचानने से इनकार किया। लेकिन भाई ने युवती को पहचान लिया।

पहचान के बाद कराया गया पोस्टमार्टम


इसके बाद युवती की माँ और भाई को पोस्टमार्टम हाउस लाकर शव की पहचान कराई गई। जिसके बाद पंचनामा भरकर पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवा दिया।

सीने में लगी थी दो गोली, शरीर पर थे चोट के निशान

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार युवती को सीने पर दो गोलियां मारी गई थीं। उसके शरीर पर हाथ-पैर और सिर पर भी चोट के निशान मिले थे।

पुलिस ने शिनाख्त के लिए लगाई थी आठ टीमें

मथुरा पुलिस ने मृतका की शिनाख्त के लिए 8 टीमें लगाई थीं। पुलिस की टीमें युवती की पहचान के लिए गुरुग्राम, आगरा, अलीगढ़, हाथरस, नोएडा और दिल्ली तक पहुंचीं थीं।

बेटी घर से गायब थी, परिजनों ने गुमशुदगी तक दर्ज नहीं कराई

इस घटना में हैरानी की बात यह थी कि घर वालों ने इस मामले में बेटी की गुमशुदगी भी दर्ज नहीं कराई थी। हालांकि, इस मामले में पुलिस को शुरुआत में ही इनपुट मिल गया था कि पिता ही बेटी की हत्या का आरोपी है। फिलहाल आरोपी पिता पुलिस की हिरासत में है। पुलिस पूछताछ जारी है। साथ ही हत्या में इस्तेमाल हथियार और लाश को ले जाने में प्रयोग की गई कार को बरामद कर लिया गया है।

पिता ने कबूल की हत्या की बात

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, मृतक लड़की के पिता ने यह बात कबूल कर ली है कि उसने अपनी बेटी आयुषी को मारा है। आरोपी पिता ने बताया कि उसकी बेटी आयुषी बिना बताए घर से कहीं चली गई थी। इस बात से वो नाराज था। जैसे ही आयुषी घर पर लौटी पिता ने उसके ऊपर हमला बोल दिया और उसको मौत के घाट उतार दिया। यह बात आरोपी पिता ने पुलिस को दिए अपने बयान में स्वीकार की है।

Satya Prakash Bharti
Satya Prakash Bharti, Journalist The Mooknayak

Related Articles

मध्य प्रदेशः 10 हजार स्वास्थ्य केंद्र बनेंगे मॉडल, सर्व सुविधायुक्त होंगे अस्पताल

प्रथम चरण में 23 जिलों में 500 हेल्थ एंड वेलनेस एवं 23 शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को आदर्श...

अब कीटनाशक भी ऑनलाइन शॉपिंग मार्किट में, पढ़िए कृषि विशेषज्ञ व किसानों ने क्या दी राय

जयपुर। अब किसान फ्लिपकार्ट (flipkart) व ऐमाजॉन (amazon) ई-कॉमर्स साइट्स से भी कीटनाशक खरीद सकेंगे। केंद्र सरकार ने ऐसे ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म्स...

दादी-पिता ने 6 माह की नवजात बच्ची को फेंका,पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार

लखनऊ। यूपी के पीलीभीत में गत 18 नवंबर को झाड़ियों में नवजात शिशु पड़ा हुआ मिला था। इस मामले में पुलिस ने...
- Advertisement -

Latest Articles

मध्य प्रदेशः 10 हजार स्वास्थ्य केंद्र बनेंगे मॉडल, सर्व सुविधायुक्त होंगे अस्पताल

प्रथम चरण में 23 जिलों में 500 हेल्थ एंड वेलनेस एवं 23 शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को आदर्श...

अब कीटनाशक भी ऑनलाइन शॉपिंग मार्किट में, पढ़िए कृषि विशेषज्ञ व किसानों ने क्या दी राय

जयपुर। अब किसान फ्लिपकार्ट (flipkart) व ऐमाजॉन (amazon) ई-कॉमर्स साइट्स से भी कीटनाशक खरीद सकेंगे। केंद्र सरकार ने ऐसे ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म्स...

दादी-पिता ने 6 माह की नवजात बच्ची को फेंका,पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार

लखनऊ। यूपी के पीलीभीत में गत 18 नवंबर को झाड़ियों में नवजात शिशु पड़ा हुआ मिला था। इस मामले में पुलिस ने...

मध्य प्रदेश: वन संरक्षण के लिए आदिवासी युवाओं को रोजगार से जोड़ रहा वन विभाग

वन उपज को एकत्र कर जीवनयापन करने वाले आदिवासी युवकों के लिए विभाग ने शुरू किया कौशल विकास कार्यक्रम।

खबर का असरः सरकारी स्कूलों में बच्चों को मिलने लगा दूध

जयपुर। राजस्थान के सरकारी विद्यालयों व मदरसों में अध्ययनरत कक्षा 1 से 8वीं तक के बच्चों को अब प्रत्येक मंगलवार व शुक्रवार...