23.1 C
Delhi
Friday, October 7, 2022

राजस्थानः मटकी से पानी पिया तो दलित युवक पर जानलेवा हमला

दलित युवक द्वारा मटकी से पानी पीने के बाद पिटाई, हवाई फायर और जान से मारने की दी धमकी, जातिसूचक शब्दों से किया गया अपमानित

लालू सिंह सोढा

जैसलमेर। जालौर जिले के सुराणा में दलित बालक की शिक्षक द्वारा पिटाई करने से मौत का मामला अभी ठण्डा भी नहीं हुआ था कि राजस्थान के जैसलमेर जिले के पुलिस थाना मोहनगढ क्षेत्र के डिग्गा गांव में गत मंगलवार रात को एक दलित युवक पर जानलेवा हमला इसलिए किया गया कि उसने एक दुकान के आगे रखी मटकी से पानी पी लिया। इतना ही नहीं, आरोपियों ने जातिसूचक शब्दों से अपमानित करते हुए जान से मारने के उद्देश्य से हवाई फायर भी किया। आरोपियों ने युवक पर लाठियों व सरियों से हमला कर दिया, जिससे कान के पीछे, शरीर, बाजू आदि पर गहरी चोटें आई। रात्रि में ही एम्बुलेंस से उपचार के लिए अस्पताल लाया गया। उपचार के दौरान चिकित्सा अधिकारी डॉ. केआर पंवार ने थानाधिकारी भवानीसिंह को सूचना दी। इस पर हैड कांस्टेबल हरराम मय जाब्ते के मौके पर पहुंचे। घायल युवक के बयान लिए गए। इस संबंध में मोहनगढ पुलिस थाने में मामला दर्ज करवाया गया।

थानाधिकारी भवानी सिंह ने बताया कि चुतराराम पुत्र रेशमाराम मेघवाल निवासी डिग्गा ने रिपोर्ट पेश कर बताया कि मंगलवार की रात्रि आठ अपने मुरब्बे से बाईक पर अपनी पत्नी के साथ डिग्गा आ रहा था। इस दौरान गांव में स्थित एक दुकान पर सामान लेने के लिए रूका था। सामान लेने के बाद दुकान के बाहर रखी मटकी से पानी पी लिया। जिस पर पास में खड़े जितेन्द्रसिंह, चुतरसिंह, तनेरावसिंह, विक्रम सिंह, देवीसिंह आदि ने जातिसूचक शब्दों से अपमानित करते हुए हमला कर दिया। चुतरसिंह ने फायरिंग शुरू कर दी। तब वह भागने लगा तो इन सभी ने पकड़ कर पीटना शुरू कर दिया। सरिये से वार करने पर उसके कान के पीछे गहरी चोट आई। उसकी पत्नी व पूनमसिंह द्वारा बीच बचाव किया गया। सिर, पीठ, पसलियों आदि में गहरी चोटें आईं। एम्बुलेन्स से उसे मोहनगढ़ के अस्पताल पहुंचाया गया। जहां पर चिकित्सकों ने उपचार शुरू किया। पुलिस ने एससी-एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया। मामले की जांच एससी-एसटी सेल जैसलमेर पुलिस उप अधीक्षक अशोक चांदना करेंगे।

नहीं थम रहा दलित उत्पीड़न
राजस्थान में दलितों पर होने वाले हमलों का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है। राजस्थान के शांत और सौम्य समझे जाने वाले जिले जैसलमेर और बाड़मेर में भी एसे अपराध दिनों -दिन बढ़ रहे हैं। ऐसे अपराधों के मूल के सिर्फ जातीय द्वेष ही नहीं, बल्कि पुलिस बलों द्वारा मिलने वाला प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष संरक्षण भी है।

हैंडक्राइम ब्यूरो के आंकड़े बताते हैं कि किस तरह से साल 2016 की तुलना में 2019 में 60 फीसदी से ज्यादा हिंसा दलितों के साथ हुई हैं. 2016 में जहां दलितों पर अत्याचार के दर्ज मुकदमों की संख्या 6 हजार 329 थी। 2017 में यह आंकड़ा कम होकर 5222 पर पहुंच गई। इसके बाद 2018 में आंकड़ा 5702 पर पहुंच गया, लेकिन प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद दिसंबर 2019 में ये आंकड़ा 8591 पर पहुंच गया। इसके बाद साल 2019 में 8895 के आंकड़े पर पहुंचा। साल 2021 के फाइनल आंकड़े आना बाकी है लेकिन अभी तक यह आंकड़ा 7346 के पार पहुंच गया है। इनमें महिलाओं और नाबालिग के साथ अत्याचार, दलित उत्पीड़न और जातीय भेदभाव जैसे मामले हैं।

दलित कार्यकर्ता व समाज सेवी भँवर मेघवंशी समय-असमय होने वाली एसी घटनाओं को लेकर सोशल मीडिया पर लिखते है कि – ”इस तरह की घटनाएँ सवर्ण सनातनी हिंदुओं में दलितों के प्रति उनके दिल दिमाग में मौजूद नफरत को उजागर करती है, इससे जाहिर होता है कि अब भी नागरिक समाज बनने और संविधान व सभ्यता की समझ विकसित करने का काम नहीं हो पाया है, वे किसी आदिम पाषाण युग के भग्नावशेष बने अतीत के ऐतिहासिक दम्भ में डूब कर मूर्खता पर मूर्खता किए जा रहे हैं, उनकी बीमारी बढ़ती जा रही है और गजब तो यह है कि बीमार यह मानने को तैयार ही नहीं है कि वो बीमार है।”

The Mooknayakhttps://themooknayak.in
The Mooknayak is dedicated to Marginalised and unprivileged people of India. It works on the principle of Dr. Ambedkar and Constitution.

Related Articles

हरियाणा: फरीदाबाद स्थित निजी हॉस्पिटल के वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट में उतरे 4 दलित सफाईकर्मियों की जहरीली गैस से मौत

सेक्टर-16 स्थित क्यूआरजी हॉस्पिटल में हुआ यह दर्दनाक हादसा। नई दिल्ली। हरियाणा के फरीदाबाद के सेक्टर-16 स्थित क्यूआरजी...

खबर का असरः पत्नी की गोली मारकर हत्या का आरोपी युवक गिरफ्तार

बेटी के हत्यारे की दो महीने बाद गिरफ्तारी होने पर छलक पड़े पिता के आंसू, जाग उठी न्याय...

राजस्थान: जंगल व वन्यजीव बचेंगे तभी पर्यावरण का संरक्षण होगा

वन्यजीव सप्ताह के तहत पर्यावरण संरक्षण की अलख भावी पीढ़ी में जगाने के लिए सरकारी स्कूलों में विविध कार्यक्रम आयोजित
- Advertisement -

Latest Articles

हरियाणा: फरीदाबाद स्थित निजी हॉस्पिटल के वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट में उतरे 4 दलित सफाईकर्मियों की जहरीली गैस से मौत

सेक्टर-16 स्थित क्यूआरजी हॉस्पिटल में हुआ यह दर्दनाक हादसा। नई दिल्ली। हरियाणा के फरीदाबाद के सेक्टर-16 स्थित क्यूआरजी...

खबर का असरः पत्नी की गोली मारकर हत्या का आरोपी युवक गिरफ्तार

बेटी के हत्यारे की दो महीने बाद गिरफ्तारी होने पर छलक पड़े पिता के आंसू, जाग उठी न्याय...

राजस्थान: जंगल व वन्यजीव बचेंगे तभी पर्यावरण का संरक्षण होगा

वन्यजीव सप्ताह के तहत पर्यावरण संरक्षण की अलख भावी पीढ़ी में जगाने के लिए सरकारी स्कूलों में विविध कार्यक्रम आयोजित

दिल्ली: अशोक विजयदशमी के दिन 10 हजार लोगों ने ली बौद्ध दीक्षा, देश में लगभग 1 लाख लोगों ने बौद्ध धम्म किया ग्रहण

नई दिल्ली। डॉ. भीमराव आंबेडकर ने आखिरी दिनों में सभी धर्मों पर गहरा अध्ययन करने के बाद देश में फैली जाति व्यवस्था...

गुजरात मॉडल: 811 करोड़ की योजनाओं के बाद भी, पिछले 30 दिनों में लगभग 24000 बच्चे कुपोषित मिले!

गुजरात। राज्य सरकार द्वारा पोषण को नियंत्रित करने के लिए 811 करोड़ रुपये की योजनाओं की घोषणा के बाद भी गुजरात राज्य...