23.1 C
Delhi
Friday, October 7, 2022

Follow up लखीमपुर खीरी हत्याकांडः: पीड़ित परिवार को 25 लाख की मदद, पक्का मकान, लेकिन पक्की नौकरी की घोषणा नहीं

निघासन (लखीमपुर खीरी). यूपी में लखीमपुर के निघासन क्षेत्र में गन्ने के खेत में एक पेड़ पर फांसी से लटकती पाई गई दो दलित बहनों के रेप और हत्या के मामले में पोस्टमार्टम के बाद प्रशासन ने परिजनों की मर्जी से दोनों शवों को एक खेत में दफना दिया था। मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीड़ित परिवार को 25 लाख रुपए की आर्थिक सहायता, एक पक्का आवास एवं कृषि भूमि का पट्टा दिए जाने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री कार्यालय ने देर रात एक ट्वीट में कहा ”मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद लखीमपुर में हुई आपराधिक घटना में पीडि़ता के परिजनों को 25 लाख रुपए की आर्थिक सहायता, एक पक्का आवास एवं कृषि भूमि का पट्टा दिए जाने के निर्देश दिए हैं।” मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा किए गए एक अन्य ट्वीट में कहा गया कि इस मामले में अदालत में त्वरित एवं प्रभावी पैरवी कर एक माह के भीतर दोषियों को उनके कृत्य की सजा दिलाई जाएगी। हालांकि परिवार के सदस्य को पक्की नौकरी दिए जाने की कोई घोषणा नहीं है।

आरोपियों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया

पुलिस ने छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया था। सभी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। गिरफ्तार किए गए अन्य लोगों की पहचान हफीजुर्रहमान, करीमुद्दीन, आरिफ और छोटू गौतम के रूप में हुई है। पुलिस ने बताया कि जुनैद को सुबह करीब साढ़े आठ बजे मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया गया था। उसके पास से एक मोटरसाइकिल, देसी पिस्तौल और कारतूस बरामद किया गया है।

पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या), 323 (स्वेच्छा से चोट पहुंचाना), 376 (बलात्कार) और 452 (चोट, हमला या गलत तरीके से रोकना) तथा पोक्सो अधिनियम की सुसंगत धाराओं में मामला दर्ज किया है। एससी/एसटी अधिनियम के प्रावधानों को भी प्राथमिकी में शामिल किया गया है। सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता बृजेश पांडे ने बताया कि सभी अभियुक्तों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। इससे पहले पीडि़त परिवार ने अंतिम संस्कार से पहले परिवार के एक सदस्य के लिए सरकारी नौकरी, पर्याप्त मुआवजा और सभी छह आरोपियों को मौत की सजा देने की मांग की थी।

पोस्टमार्टम की पुलिस ने कराई वीडियोग्राफी

जिला अधिकारी महेंद्र बहादुर सिंह और पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन तथा अन्य अधिकारियों की मौजूदगी में दोनों शवों को एक खेत में दफना दिया गया। पुलिस अधीक्षक सुमन ने उन दावों को खारिज कर दिया कि पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजने के लिए बल प्रयोग किया। उन्होंने कहा कि पोस्टमार्टम परिवार की सहमति से किया गया था। पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी भी कराई गई है। इस बीच लड़कियों के पिता ने मामले में पुलिस की कार्रवाई पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने कहा, “हम मामले में अब तक की पुलिस कार्रवाई से संतुष्ट हैं।“ विपक्ष ने कानून-व्यवस्था को लेकर राज्य की भाजपा नीत सरकार की आलोचना की है।

बलात्कार के बाद गला दबाकर आरोपियों ने की थी हत्या

पुलिस सूत्रों ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चला है कि 15 और 17 साल की दोनों बहनों के साथ बलात्कार किया गया और फिर गला घोंटकर उनकी हत्या कर दी गई। बुधवार को शव उनके घर से करीब एक किलोमीटर दूर फांसी पर लटकते पाए गए। पुलिस अधीक्षक (एसपी) संजीव सुमन ने संवाददाताओं को बताया कि प्रारंभिक जांच के अनुसार लड़कियां बुधवार दोपहर दो आरोपियों जुनैद और सोहेल के साथ घर से निकली थीं। लड़की की मां ने पहले आरोप लगाया था कि उनका अपहरण किया गया था। एसपी ने कहा, “जुनैद और सोहेल ने लड़कियों के साथ बलात्कार करने के बाद गला घोंटने का जुर्म कुबूल किया है। वे दोनों दो बहनों के साथ रिश्ते में थे। लड़कियां शादी की जिद कर रही थीं, जिसके बाद उनका गला घोंट दिया गया।“

फास्ट ट्रैक कोर्ट में केस ले जाएगी सरकार

उत्तर प्रदेश के दोनों उपमुख्यमंत्रियों केशव प्रसाद मौर्य और ब्रजेश पाठक ने कहा कि सरकार पीडि़तों के परिवार के साथ है। मौर्य ने एक ट्वीट में कहा “सरकार पीडि़त परिवार के साथ है! मुद्दा विहीन विपक्ष ऐसे मामलों में राजनीति नहीं करे!“ उन्होंने कहा “ये अत्यधिक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। हम पीडि़त परिवार के साथ हैं। घटना के छह अभियुक्त गिरफ्तार कर लिए गए हैं। जो भी अपराध करेगा, वो अपराधी नहीं बच पाएगा और न कोई उसे बचा पायेगा। अपराधियों के खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई की जाएगी।“ उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने संवाददाताओं से कहा “लखीमपुर की घटना का पर्दाफाश हो गया है। इस प्रकरण में सरकार ऐसी कठोर कार्रवाई करेगी कि इन अभियुक्तों की आने वाली पीढि़यों की रूह भी कांप जाएगी। सरकार पूरी तरह से पीडि़त परिवार के साथ है। हम इस मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाएंगे और दोषियों को सजा दिलाएंगे।“

घटना पर उबला विपक्ष


उत्तर प्रदेश सरकार ने भले ही कार्रवाई में तेजी दिखाते हुए आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया हो, लेकिन विपक्ष के हाथों में बड़ा मुद्दा आ गया।
सपा प्रमुख अखिलेश यादव और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने तो घटना के तुरंत बाद ही कड़ी प्रतिक्रिया दी, जबकि गुरुवार को बसपा प्रमुख मायावती, कांग्रेस सांसद राहुल गांधी सभी विपक्षी दलों ने सरकार पर चौतरफा वार किया। मुख्य विपक्षी सपा ने 19 सितंबर से शुरू हो रहे विधानमंडल सत्र में भी इसे जोरशोर से उठाने की तैयारी कर ली है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट किया “लखीमपुर में दिनदहाड़े दो नाबालिग दलित बहनों के अपहरण के बाद उनकी हत्या, बेहद विचलित करने वाली घटना है। बलात्कारियों को रिहा करवाने और उनका सम्मान करने वालों से महिला सुरक्षा की उम्मीद की भी नहीं जा सकती है।“
बसपा प्रमुख मायावती ने कहा- ए“ेसी दुखद व शर्मनाक घटनाओं की जितनी भी निंदा की जाए, वह कम है। यूपी में अपराधी बेखौफ हैं, क्योंकि सरकार की प्राथमिकताएं गलत हैं।“ मायावती ने सरकार को सुझाव देते हुए लिखा- “हाथरस सहित ऐसे जघन्य अपराधों के मामलों में ज्यादातर लीपापोती होने से ही अपराधी बेखौफ हैं। यूपी सरकार अपनी नीति, कार्यप्रणाली व प्राथमिकताओं में आवश्यक सुधार करे।“

राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) अध्यक्ष जयन्त चौधरी ने ट्वीट किया-

“लखीमपुर खीरी ने फिर रुला दिया। ऐसे जघन्य अपराध झकझोर देते हैं, समाज को शर्मसार करते हैं।“ प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) प्रमुख शिवपाल सिंह यादव ने कहा- “घटना नृशंस, दुर्भाग्यपूर्ण व हृदय विदारक है। ऐसी घटनाएं प्रदेश की कानून व्यवस्था पर गहरे सवाल खड़ा करती है। दोषियों के खिलाफ त्वरित, पारदर्शी व कड़ी कार्रवाई करे सरकार।“


रालोद का हल्ला बोल


लखीमपुर खीरी हत्याकांड को लेकर राष्ट्रीय लोकदल पार्टी ने पश्चिम यूपी में अपने प्रभाव वाले जिलों में हल्ला बोल कार्यक्रम के तहत जिला कलक्टरी व उपखण्ड मुख्यालयों पर प्रदर्शन किया। इस दौरान जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंप कर मामले में उचित कार्रवाई करने की मांग की गई। वहीं पीडि़तों को एक करोड़ रुपए मुआवजा देने की मांग की गई।

Satya Prakash Bharti
Satya Prakash Bharti, Journalist The Mooknayak

Related Articles

हरियाणा: फरीदाबाद स्थित निजी हॉस्पिटल के वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट में उतरे 4 दलित सफाईकर्मियों की जहरीली गैस से मौत

सेक्टर-16 स्थित क्यूआरजी हॉस्पिटल में हुआ यह दर्दनाक हादसा। नई दिल्ली। हरियाणा के फरीदाबाद के सेक्टर-16 स्थित क्यूआरजी...

खबर का असरः पत्नी की गोली मारकर हत्या का आरोपी युवक गिरफ्तार

बेटी के हत्यारे की दो महीने बाद गिरफ्तारी होने पर छलक पड़े पिता के आंसू, जाग उठी न्याय...

राजस्थान: जंगल व वन्यजीव बचेंगे तभी पर्यावरण का संरक्षण होगा

वन्यजीव सप्ताह के तहत पर्यावरण संरक्षण की अलख भावी पीढ़ी में जगाने के लिए सरकारी स्कूलों में विविध कार्यक्रम आयोजित
- Advertisement -

Latest Articles

हरियाणा: फरीदाबाद स्थित निजी हॉस्पिटल के वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट में उतरे 4 दलित सफाईकर्मियों की जहरीली गैस से मौत

सेक्टर-16 स्थित क्यूआरजी हॉस्पिटल में हुआ यह दर्दनाक हादसा। नई दिल्ली। हरियाणा के फरीदाबाद के सेक्टर-16 स्थित क्यूआरजी...

खबर का असरः पत्नी की गोली मारकर हत्या का आरोपी युवक गिरफ्तार

बेटी के हत्यारे की दो महीने बाद गिरफ्तारी होने पर छलक पड़े पिता के आंसू, जाग उठी न्याय...

राजस्थान: जंगल व वन्यजीव बचेंगे तभी पर्यावरण का संरक्षण होगा

वन्यजीव सप्ताह के तहत पर्यावरण संरक्षण की अलख भावी पीढ़ी में जगाने के लिए सरकारी स्कूलों में विविध कार्यक्रम आयोजित

दिल्ली: अशोक विजयदशमी के दिन 10 हजार लोगों ने ली बौद्ध दीक्षा, देश में लगभग 1 लाख लोगों ने बौद्ध धम्म किया ग्रहण

नई दिल्ली। डॉ. भीमराव आंबेडकर ने आखिरी दिनों में सभी धर्मों पर गहरा अध्ययन करने के बाद देश में फैली जाति व्यवस्था...

गुजरात मॉडल: 811 करोड़ की योजनाओं के बाद भी, पिछले 30 दिनों में लगभग 24000 बच्चे कुपोषित मिले!

गुजरात। राज्य सरकार द्वारा पोषण को नियंत्रित करने के लिए 811 करोड़ रुपये की योजनाओं की घोषणा के बाद भी गुजरात राज्य...